आओ जानें आईपीओ क्या है और आईपीओ फुल फॉर्म क्या होता है? IPO का मतलब (फुलफॉर्म) Initial public offering होता है।

आईपीओ फुल फॉर्म

आईपीओ क्या है ? Initial public offering वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक निजी कंपनी अपने स्टॉक को आम जनता को बेचकर सार्वजनिक हो सकती है। एक आईपीओ बाजार से धन जुटाने का एक साधन है। आईपीओ के आवंटित शेयरों को लागू करने और पाने वाले निवेशक कंपनी के शेयरधारक (हिस्से के मालिक) बन जाते हैं।

कंपनियां सार्वजनिक तौर पर नए शेयर जारी करके आईपीओ की मदद से इक्विटी कैपिटल जुटा सकती हैं या मौजूदा शेयरधारक बिना किसी नई पूंजी जुटाए जनता को अपने शेयर बेच सकते हैं।

Q1 : आईपीओ के लिए आवेदन करने के लिए कौन पात्र है?

Ans : कोई भी वयस्क जो कानूनी अनुबंध में प्रवेश करने के लिए सक्षम है, आईपीओ के लिए आवेदन कर सकता है। आईपीओ में निवेश के लिए डीमैट खाता होना आवश्यक है क्योंकि आजकल सभी आबंटन केवल डीमैट रूप में किए जाते हैं।

Q2 :क्या मुझे आईपीओ में निवेश के लिए ट्रेडिंग अकाउंट की भी आवश्यकता है?

Ans : तकनीकी रूप से, आपको आईपीओ में आवेदन करने के लिए ट्रेडिंग खाते की आवश्यकता नहीं है। डीमैट खाता (डीमैट खाता पूर्ण रूप एक डीमैटेरलाइज्ड खाता है) अकेले पर्याप्त होगा।

Q3 : आईपीओ कितने दिनों के लिए खुला रखा जाता है?

Ans : आमतौर पर, कंपनी आईपीओ को 3-4 दिनों की अवधि के लिए खुला रखेगी ताकि निवेशक आईपीओ में आवेदन कर सकें। अंतिम दिन ट्रेडिंग बंद होने से पहले सभी वैध एप्लिकेशन को सिस्टम में लॉग इन करना होगा।

Read More  अरुणाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग भर्ती 2021

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here